Header Ads Widget

Responsive Advertisement

पीएम गति शक्ति योजना क्या है | What is PM Gati Shakti Scheme

 पीएम गति Shakti योजना क्या है | PM गति Shakti  योजना से क्या लाभ होगा। पीएम गति शक्ति योजना की  कब प्रारम्भ की गई है | पीएम गति शक्ति योजना की क्यों शुरू की गई | प्रधानमंत्री गति शक्ति योजना के तहत किन किन योजनाओं को शामिल किया गया है | What is PM Gati Shakti Scheme | पीएम गति शक्ति योजना का राष्ट्रीय मास्टर Plan क्या है

 अभी हाल फिलहाल में भारत सरकार की वित्त मंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमण ने बजट 2022 -2023 पेश किया। इस बजट के द्वारा नई उन्नत तकनीकों एवं विश्व स्तरीय मूलभूत सुविधाओं को स्थापित करने के लिए पीएम गति शक्ति योजना पर विशेष जोर दिया गया है। पीएम गति शक्ति योजना से देश में मूलभूत  सुविधाओं का विकास जैसे सड़क (Road ), रेलवे(Railway), एयरपोर्ट(Airport), बंदरगाह(Ports), ट्रांसपोर्ट(Transport), जलमार्ग (Water Way), और लॉजिस्टिक इंफ्रास्ट्रक्चर के विकास को बढ़ावा दिया जायेगा। वित्त मंत्री  ने कहा कि समग्र रूप से विकास करने के लिए मास्टर प्लान भी तैयार किया जाएगा जिससे राज्यों की ओर से भी होने वाले मूलभूत विकास को इसमें शामिल किया जाएगा।

पीएम गति शक्ति योजना 2022
पीएम गति शक्ति योजना 2022 


बजट 2022-2023 में इस प्रकार की अनेकों  महत्वपूर्ण योजनाओं को शुरू किया गया है जैसे  पीएम गति शक्ति योजना , एक स्टेशन एक प्रोडक्ट और ई-विद्या (e-Vidya) इत्यादि  योजनाओं को शामिल किया गया है। आज हम इस आर्टिकल में जानेंगे की पीएम गति शक्ति योजना क्या है और इस योजना के द्वारा किन -किन सेक्टर को शामिल किया गया है। पीएम गति शक्ति योजना देश के विकास में  किस प्रकार योगदान देगी। पीएम गति शक्ति योजना के बारे में विस्तार पूर्वक जानने के लिए इस लेख को अंत तक पढ़ें



    पीएम गति शक्ति योजना क्या है?

    पीएम गति शक्ति योजना के अंतर्गत कुल 16 मंत्रालयों को जोड़ा गया है  जो कई केंद्रीय विभागों एक तरीके से डिजिटल मंच की तरह है जैसे रेल और सड़क इत्यादि । पीएम गति शक्ति योजना को  पिछले साल 13 अक्टूबर 2021 को शुरू किया गया था।  2022-2023 के बजट में  वित्त मंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमण ने यह स्पष्ट किया कि यह योजना हर प्रकार के ढांचागत सुविधाओं के विकास का आधार साबित होगी। पीएम गति शक्ति योजना से आर्थिक वृद्धि होने के साथ सतत विकास की दिशा में एक परिवर्तनकारी योजना साबित हो सकेगी ।

    क्योंकि हमारे देश में नौकरशाही सिस्टम इस तरह का  है जिसमें अलग-अलग खर्चों में काम होता है।इस वजह  किसी भी परियोजना के क्लीयरेंस या अन्य प्रकार के सहयोग को लेकर ढेर सारी कठिनाइयां आती हैं जिससे ढेर सारा समय लग जाता है।  उदाहरण के तौर पर यदि जब कोई रोड  बनाया जाता है  तो उसके बाद आने के बाद केबल बिछाने के लिए और गैस पाइपलाइन बिछाने के लिए खोद देती है। इससे आम लोगों को असुविधा होती है और बहुत बड़े पैमाने पर आम लोगों का धन फालतू में खर्च हो जाता है। इसी प्रकार की समस्याओं का हल निकलने के लिए पीएम गति शक्ति योजना का प्रस्ताव रखा गया जिससे साल 2024- 2025 तक सभी बड़े इंफ्रास्ट्रक्चर कनेक्टिविटी परियोजनाओं के उद्देश्यों को पूरा किया जा सके।

    इसे भी पढ़ें : सीमा दर्शन योजना 2022

    पीएम गति शक्ति योजना का लक्ष्य क्या है

    पीएम गति शक्ति योजना का लक्ष्य मूलभूत सुविधाओं के विकास की सात फैक्टर को चिन्हित किया गया है जिनमें सड़क, रेल मार्ग, हवाई मार्ग, विमानपत्तन, जल मार्ग ,माल परिवहन और लॉजिस्टिक इंफ्रास्ट्रक्चर को सम्मिलित किया गया है। राष्ट्रीय अवसंरचना पाइप लाइन में इन 7 फैक्टर्स से जुड़ी परियोजनाओं को पीएम गति शक्ति फ्रेमवर्क से जोड़ दिया जाएगा। इसमें हर एक कारको से जुड़े कुछ लक्ष्यों को तय किया जाएगा। पीएम गति शक्ति योजना के द्वारा उन उद्देश्यों को साल 2024 -2025 तक पूरा किया जाएगा।

    पीएम गति शक्ति योजना के लिए भारत सरकार ने 107 लाख करोड़ रुपए खर्च करने का बजट बनाया  है। जिससे इकोनामिक जोन, कनेक्टिविटी ,इंफ्रास्ट्रक्चर को डेवलप  किया जा सके । जैसी सड़क के लिए  बजट 2022-23 मे पीएम गति शक्ति योजना के तहत नेशनल हाईवे के नेटवर्क को कुल 25000 किलोमीटर और प्रसार किया जाएगा तथा इंडियन रेलवे , व्यापार में ज्यादा सुविधा देने के लिए कार्गो हैंडलिंग की मौजूदा क्षमता को बढ़ाकर 1600 मिलियन टन किया जाएगा तथा इसके साथ साथ वन सिटी वन ग्रिड के लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए 35000 किलोमीटर में गैस पाइपलाइन नेटवर्क का  विस्तार किया जाएगा।

    पीएम गति शक्ति योजना के तहत अगले 3 सालों के दौरान 400 नई बंदे भारत ट्रेन चलाई जाएंगी इसके साथ 100 पीएम गति शक्ति कार्गो टर्मिनल को भी बनाया जाएगा।

    पीएम गति शक्ति योजना(Yojna) का नेशनल मास्टर प्लान क्या है?

    पीएम गति शक्ति योजना के राष्ट्रीय मास्टर प्लान कुल 6 स्तंभ  हैं। जिसमें व्यापकता, प्राथमिकता, अनुकूलन, तूल्यकालन, विश्लेषणात्मक, गतिशीलता को सम्मिलित किया गया है। भारत सरकार का ऐसा मानना है कि पीएम गति शक्ति योजना के द्वारा देश के इंफ्रास्ट्रक्चर में तेजी से विकास होगा और देश की  कनेक्टिविटी को भी बढ़ावा मिलेगा। पीएम गति शक्ति योजना के द्वारा बड़े पैमाने पर विकास के साथ रोजगार के अवसर भी सृजित होंगे। इस योजना के तहत रसद लागत में कटौती होगी तथा आपूर्ति की श्रंखला में सुधार होगा और स्थानीय स्तर पर वस्तुओं को वैश्विक स्तर पर पहचान बढ़ाने में सहायक सिद्ध होगी ।

    पीएम गति शक्ति योजना(Yojna) के सात स्तम्भ कौन-कौन से हैं?

    वित्त मंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमण जी ने बजट 2022-2023 में मूलभूत सुविधाओं के विकास के लिए 7 इंजनो से संबंधित परियोजनाओं को पीएम गति शक्ति योजना के साथ जोड़ा जाएगा। इससे उत्पादकता को बढ़ाने में, आर्थिक वृद्धि और विकास में तेजी से वृद्धि लाने में मदद मिलेगी। पीएम गति योजना के यह 7 इंजन ये रहे ।

    • सड़क परिवहन(Road Transport )
    • रेल मार्ग( Railways )
    • हवाई मार्ग(Air Ways )
    • विमानपत्तन(Air Port )
    • माल परिवहन(Goods Transport )
    • जलमार्ग(Water Ways )
    • लॉजिस्टिक्स इंफ्रास्ट्रक्चर(Logistic Infrastructure)

    सड़क परिवहन

    सड़क परिवहन के मूलभूत विकास के लिए बजट 2022-2023 में एक्सप्रेस वेज़  के लिए गति शक्ति मास्टर प्लान को शुरू किया जाएगा जिससे देश की आम जनता का और वस्तुओं का आवागमन और अधिक तेज हो सके। बजट 2022-2023 के अनुसार राष्ट्रीय राजमार्गों के नेटवर्क को कुल 25000 किलोमीटर और वृद्धि की जाएगी ।

    लॉजिस्टिक इंफ्रास्ट्रक्चर

    बजट 2022-2023 के अनुसार PPP मॉडल पर आधारित चार स्थानों पर मल्टी मॉडल लॉजिस्टिक पार्क को शुरू किया जाएगा।


    रेलवे

    इंडियन रेलवे के व्यापार में ज्यादा सुविधा बढ़ाने के लिए कार्गो हैंडलिंग की वर्तमान क्षमता को 1600 मिलियन टन तक बढ़ाया जाएगा। रेलवे पार्सलों को बिना किसी रोक टोक के आवागमन की सुविधा मुहैया कराने के लिए डाक और रेलवे को जोड़ने में अग्रणी भूमिका निभाने के साथ-साथ रेलवे छोटे किसानों तथा छोटे एवं मध्यम उद्योग के लिए नए उत्पादों और कार्यकुशल लॉजिस्टिक सेवाएं डेवलप करेगा। आगामी 3 वर्षों के दौरान 400 नई पीढ़ी की बंदे भारत रेलगाड़ियां चलाई जाएंगी जो यात्रियों को सुखद अनुभव की दृष्टि से अच्छी होंगी।

    निष्कर्षः

    निष्कर्षता हम ये कह सकते हैं कि पीएम गति शक्ति योजना राष्ट्र के चहुमुखी विकास के लिए बहुत महत्वपूर्ण है इस योजना से देश के बड़े क्षेत्रों में विकास से रोजगार, समृद्धि आदि में बड़े पैमाने पर लाभ होगा । इस योजना में नई-नई तकनीकों के प्रयोग से देश के कई क्षेत्रों में व्यापक बदलाव के साथ-साथ देश में खुशहाली, समृद्धि भी आएगी । अंततः इन सब से हमारा देश विकास के पथ पर द्रुत गति से आगे बढ़ेगा।

    पीएम गति शक्ति योजना से संबंधित इस आर्टिकल में विस्तार पूर्वक जानकारी दी गई है यदि आपको यह जानकारी पसंद आए तो आप अपना सुझाव कमेंट बॉक्स में दें सकते हैं। 

     धन्यवाद……।

    एक टिप्पणी भेजें

    0 टिप्पणियाँ